पराली और फसलों के अवशेष निपटान के लिए सरकार गंभीर: धनखड़

0
10

हरियाणा सरकार पराली और फसलों के अवशेष निपटान के लिए गंभीर है. सरकार पराली निपटान के लिए विभिन्न रूपों में इसका इस्तेमाल करने के कदम उठाए जा रहे हैं. किसानों को निपटान के लिए हर जिले में किसान मेले लगाकार सीधे सब्सिडी के साथ उपकरण दिए गए हैं. साथ ही अवशेष निपटान हेतु उपकरण को इस्तेमाल करने पर सब्सिडी का भी प्रावधान किया है. यह जानकारी यहां कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने दी.

कृषि मंत्री ने कहा कि एनसीआर क्षेत्र में स्मॉग को लेकर हम भी चिंतित हैं और इस समस्या के समाधान के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं. धनखड़ ने बताया कि भविष्य में भी इस समस्या से निपटने के लिए हमने दो सुझाव केंद्रीय मंत्रियों को दिए हैं ताकि पराली का निपटान आसानी से हो सके.

उन्होंने बताया कि केंद्रीय कृषि मंत्री और ग्रामीण विकास मंत्रालय को पत्र लिखकर पराली निपटान को किसानों को प्रोत्साहन राशि देने और पराली निपटान के काम में पंचायतें मदद कर सकें. इसके लिए इस काम को मनरेगा में शामिल करने का अनुरोध किया है.

कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि पराली निपटान के लिए हम लगातार प्रबंधन की दिशा में काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों बड़ी संख्या में फसल अवशेष प्रबंधन के उपकरण उपलब्ध कराए हैं. इन पर किसानों को 75 करोड़ रूपये की सब्सिडी प्रदान की है. उन्होंने बताया कि सरकार ने 10 करोड़ रूपये की अतिरिक्त सब्सिडी का प्रावधान पहले ही कर दिया है.

NO COMMENTS